शुक्र के लिए मंत्र

द्वारा प्रकाशित किया गया

शुक्र के निर्बल होने से जीवन में भोग विलास की कमी हो सकती है. मूत्र संबंधी परेशानियाँ हो सकती है. ऎसी स्थिति में शुक्र के मंत्र जाप करने चाहिए. शुक्र के किसी एक मंत्र का जाप शुक्ल पक्ष के शुक्रवार से आरंभ करना चाहिए. शुक्र के मंत्र जाप सूर्योदय काल में करने चाहिए.

शुक्र का वैदिक मंत्र  – Vedic Mantra for Venus
ऊँ अन्नात्परिस्रुतो रसं ब्रह्मणा व्यपिबत क्षत्रं पय: सेमं प्रजापति: ।
ऋतेन सत्यमिन्दियं विपान ग्वं, शुक्रमन्धस इन्द्रस्येन्द्रियमिदं पयोय्मृतं मधु ।

नाम मंत्र – Naam Mantra For Venus
ऊँ शुं शुक्राय नम:

शुक्र के लिए तांत्रोक्त मंत्र – Tantrokta Mantra for Venus

  • ऊँ ह्रीं श्रीं शुक्राय नम:
  • ऊँ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम:
  • ऊँ वस्त्रं मे देहि शुक्राय स्वाहा

शुक्र का पौराणिक मंत्र – Poranik Mantra for Venus
ऊँ हिमकुन्दमृणालाभं दैत्यानां परमं गुरुम सर्वशास्त्रप्रवक्तारं भार्गवं प्रणमाम्यहम ।

Advertisements

100 comments

  1. नमस्कार !

    यदि आप शुक्र ग्रह के लिए डायमंड पहन रहे हैं तब इसे दाएँ हाथ की मध्यमा अंगुली में ही पहना जाना चाहिए. यदि आप शौक के लिए पहन रहे हैं तब किसी भी अंगुली में धारण करें. शुक्र को बल देने के लिए शुक्रवार का व्रत भी किया जा सकता है लेकिन शुक्र के लिए किए जाने व्रत के कुछ नियम हैं जैसे इस दिन खट्टा नहीं खाना होता है, इनका पालन भी आपको अवश्य करना होगा, तभी आपको रोजमर्रा की जिन्दगी में राहत मिल पाएगी.

  2. नमस्कार लक्ष्मी कांत जी,

    आपको अपना जन्म विवरण नहीं पता है? जैसे जन्म तारीख, समय और स्थान? यदि आपको मेरी मेल पर जवाब चाहिए तव वही प्रश्न करिए, यहाँ नहीं क्योंकि मेरे लिए एक – एक कर ढूँढना मुश्किल है और समय भी नहीं है. सामने जो प्रश्न आता है उसी का उत्तर मैं दे पाती हूँ.

  3. हिन्दु मान्यता में अलग कहाँ है? इसके अनुसार भी प्रेम का ही प्रतीक माना गया है. यदि कुण्डली में शुक्र निर्बल है तब पति-पत्नी में प्रेम का अभाव ही रहता है. यदि शुक्र निर्बल होगा तो प्रेम ही नहीं होगा. समझनए का नजरिया है बस और कुछ नहीं. यहाँ इतना समय नहीं है कि आपको विस्तार से बताया जाए. आप इंटरनेट पर जाकर सर्च करेगें और अच्छी साईट्स को पढ़ेगे तब पता चलेगा कि शुक्र वास्तव में क्या है?

  4. Hello madam, I m snehal my date of birth is 10/2/1989, time 6.30pm,and place: satara maharashtra
    I have done my M. SC BIOTECHNOLOGY and B. ED TOO. and even trying for M. P.S. C EXAMS, GOVERNMENT EXAMS. Bt no positive results still. So whether I should try for these exams only or other job. Please guide. I m too much worried about my career.

  5. नमस्कार !

    आपने जो पढ़ाई की है उसी से संबंधित क्षेत्र में आप नौकरी का प्रयास करें आपको सफलता मिलेगी. अभी आपकी दशा अनुकूल नहीं है और दिमाग भी भ्रम में रहता है. आप एक बार दिमाग को शांत कर के पूरे प्रयास व लगन से मन लगाकर तैयारी करें, आपको सफलता मिलेगी. जब दशा अनुकूल ना हो तब अनुकूल फल कैसे मिल सकते है? आप हर शुक्रवार को कुछ ना कुछ सफेद वस्तु का दान जरुर करें, भूले नहीं. दूसरे आप रोज नारायण कवच का पाठ करे, आपको लाभ होगा.

  6. रंजीत नंदी जी नमस्कार!, आपने अपना जन्म स्थान नहीं लिखा है. कृपया कर वह भी बताएँ.

    धन्यवाद !

  7. Sir ji hme esa lgta he ki kbhi kisi ka pyar nhi mila mata ji he pr unka bhi nhi mil paya kyoki hmse chota bhai sirf 11 mahine chota he shadi bhi bina marji ke hui uske bad ek ladki se sambandh hue bo bhi choad kr chli gyi uske bad ek aur mahila se samandh huye unhone bhi jb tk unhe jarurat thyi istemal kiya hm jaan na chahte he kya hme kbhi स्त्री सुख milega ya nhi

  8. मैडम मेरा नाम सीताराम है जन्म तारीख 18 oct 1983 जन्म समय 4.45 am जन्म स्थान नवादा(बिहार)है
    …कृपया बताइये की मेरी कुंडली में शुक्र का प्रभाव बहुत ख़राब है क्या अगर हाँ तो कोई रामबाण उपाय बताइये आपकी बहुत कृपा होगी
    .

  9. आपकी जन्म कुंडली में शुक्र की ना तो दशा है और ना ही अन्तर्दशा ही है. शुक्र की अन्तर्दशा खतम हो चुकी है. एक शुक्र के खराब होने से कोई खराबी नहीं हो रही है. खराबी है कि आपकी कुंडली में शनि की महादशा चल रही है और शन महाराज नीच के सूर्य के साथ दूसरे भाव में स्थित है. इसलिए आपकी अपने से बड़ो के साथ कम निभेगी और पिता का सुख भी कम रहेगा. यदि नौकरी करते हैं तो अपने बॉस से हरदम झगड़ा रहेगा. दूसरा यह कि शुक्र, अष्टमेश मंगल के साथ कुंडली में स्थित है. शुक्र भाग्येश होकर अष्टमेश से पीड़ित हो गया है. भाग्य भाव में शुक्र की राशि वृष में राहु स्थित जो भाग्य को ग्रहण लगा रहा है हालाँकि राहु को वृष राशि में उच्च का माना गया है. तीसरी बात यह कि कुंडली में चंद्रमा छठे भाव में अकेला है और उसके आगे पीछे कोई ग्रह नही है जिससे यह केमद्रुम योग बना रहा है. केमद्रुम योग बनने से व्यक्ति को जीवन में एक बार संघर्षों का सामना करना ही पड़ता है. चंद्रमा छठे भाव में अच्छा नहीं माना गया है क्योंकि यह मन को परेशानी देता है और आपको भावुक ज्यादा बना रहा है. आप भावनाओं में बहकर जाते रहते हैं. चंद्र/शुक्र आमने-सामने होने से आप बहुत ज्यादा सपने देखते हैं लेकिन उनके पूरा ना होने से शीघ्र ही उदास भी हो जाते हैं.

    शनि पांचवे घर का स्वामी होने के साथ छठे का भी स्वामित्व रखता है इसलिए आपको इसके भी फल मिलेगें और प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष शत्रु आपको घेरे रहेगें. शनि की दशा में बहुत धीरे फलों की प्राप्ति होती है इसलिए आपको शनि के मत्र का 108 बार जाप रोज संध्या समय में करना चाहिए. शनि मंदिर ना जाएँ, आप सुबह के समय पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपक हर शनिवार जलाएं और पानी में कच्चा दूध व गुड़ का छोटा टुकड़ा डालकर पीपल के पेड़ में दें. इसी तरह से हर वीरवार को सुबह के समय आप् शुद्ध घी का दीपक केले के पेड़ के नीचे जलाएँ और पानी में कच्चा दूध मिलाकर पेड़ की जड़ में अर्पित करें. आपको लाभ होगा. शनि की दशा है तो आप अगले शनिवार घोड़े की नाल से बना एक छल्ला अपनी मध्यमा अंगुली में पहन लें और पहनने से पहले धूप दीप दिखाएँ फिर धारण करें. आप यह सब करें आपको लाभ होगा.

  10. मेम को प्रणाम
    मेम मेरा जन्म 25.08.1986कोरात को 12:05मिनट मे हुवा है ा मै कोई भी कार्य करता हु वह पुरा नही होता है आप कृप्या करे मे क्या करू मे आप का आशिर्वाद चहाता हू बता ये

  11. आपने अपना जन्म स्थान नहीं बताया है? कृपया कर पहले वह बताएँ कि आपका जिला अथवा शहर कौन सा है जहाँ आपका जन्म हुआ?

  12. Namste mam
    Mera nam babita chettri hai.mi darjeeling mi rahete hau.laking muje apna date of birth malum nahi hai.mam mi jo vi kaam karne ko sochte hu wo kabi pura nahi hota aisa kyu.

  13. आपको अगर अपनी जन्म तारीख नहीं पता है और काम नहीं बन रहे हैं तब आपको रोज सुबह संकट नाशन गणेश स्तोत्र का पाठ करना चाहिए. बुधवार और वीरवार को आप सुबह या शाम को विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें. बृहस्पतिवार को आप केले के पेड़ के नीचे शुद्ध घी का दीया जलाएँ और पानी में कच्चा दूध मिलाकर केले के पेड़ को दें. इस दिन आप केला नहीं खाएँ. शनिवार के दिन सुबह के समय आप पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीया जलाएँ और तेल व दीया घर से ही लेकर जाएँ उस दिन खरीदे नहीं. साथ ही पानी में थोड़ा कच्चा दूध और थोड़ा सा गुड़ मिलाकर पीपल के पेड़ को जल चढ़ा दें. आप यह सब काम कई हफ्तों तक लगातार करें, आपके कामों में अड़चनें आना बंद होगी.

  14. date.14jan 1984_time -2:30pm स्थल
    parli vaidyanath.dist beed maharastra
    मै नौकरी करू या व्यवसाय और तनाव का
    कारण क्या है दिमाग काम नही करता प्लीज मॅडम यह बताये नाम विश्वनाथ मोरे

  15. Madam ji.
    Mera naam Amit hai. Mera details hai: 05:35 am, dhanbad, jharkhand.
    Shukracharya ke prakop ke wajah se mai pichle 5-6 mahine padeshaan raha. Business chal nahi paya aur wife bhi padeshan ho k maike chali gayi.Pichle 1 mahine se rozana subah aur shaam, 5-5 mala jaap karta hu shukra beej mantra ka. Om draam dreem draum sah shukray namah. Internet pe kahi padha ki sukra ki shanti k lie 1,25,000 baar jap karna hoga.
    Mere kuch prashn hain:
    1- is mantra ka jaap agar 1,25,000 baar kia jaaye to kya hoga ?
    2- mai avi job dhoondh rah hu, kab tak mil payegi?
    3- wife ka behaviour kab tak aur kaise sahi hoga ? Aur wo kab tak wapas aane ki sambhawna hai ?

  16. अमित जी, आप कुछ ज्यादा ही परेशान है ऎसा लगता है. आपने प्रश्न तो पूछ लिए हैं लेकिन अपनी जन तारीख लिखना भूल गए हैं. कृपया वह भी बताएँ.

  17. तनाव का अकरण तो आपकी महादशा है,राहु की महादशा चली हुई है और आपकी खोपड़ी अर्थात लग्न में ही चंद्रमा के साथ स्थित है. चंद्रमा मन है जो राहु के साथ मिलकर भटकाने का काम करता हैभी राहु में शुक्र की दशा है जिसे बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता है और इसके बाद आने वाली सूर्य की दशा भी बहुत अच्छी नहीं कह सकते हैं. आप राहु के मंत्र का जाप करें और शनिवार को खिचड़ी बनाकर गरीबों को दान करें.आपके लिए नौकरी करना ही सही रहेगा लेकिन अपने दिमाग को शांत रखकर ही करनी होगी क्योंकि आप नौाकरी भी अपनी ही शर्तों पर करना चाहते हैं जो शायद मुश्किल होगा क्योंकि नौकरी करने का अर्थ है आपको किसी ना किसी के नीचे काम करना होगा और आप किसी के दबाव में आकर काम करना नहीं चाहते हैं.

    आपको राहु का जो उपाय बताया गया है वह करें और रात में रोज राहु का पौराणिक मंत्र 108 बार जरुर पढ़े.

  18. My Name is Narayan.
    DOB 16 May 81. 15:30 , place Pune.
    My horoscope is worst.
    at least 30 years lots of trouble in life. Still single. Many times lost love/girls. Father is like brutal enemy, so as mother. Friends are worst. good earning but lots of expenses. Currently started mantra of shukra, Ketu, shani, Sun and Rahu. please suggest remedies so can marry good girl, will I get good girl??

  19. My Name is Narayan Tambe.
    DOB 16 May 81. 15:30 , place Pune.
    My horoscope is worst.
    at least 30 years lots of trouble in life. Whoe life I have been dominated. Still single. Many times lost love/girls. Father is like brutal enemy, so as mother. At work could not give right justice to my abilities. Friends are worst. good earning but lots of expenses. Currently started mantra of shukra, Ketu, shani, Sun and Rahu. please suggest remedies so I can marry good girl, will I get good girl?? I had very great life, plans, behaviour, ethics, values, emotions, dreams,positivity, way of living life, excellent command on tries. But I lost all hopes in continuous 10 years failure. Now can marry girl but they are far far simple than my Royal ness of heart. I feel, marring simple girl I may not give right justice either me or that girl. Please suggest as per my horoscope.

  20. date.14jan 1984_time -2:30pm स्थल
    parli vaidyanath.dist beed maharastra
    शुभ और अशुभ ग्रह बताये.धन यैश्वर्य के लिये कौन से ग्रह का यंत्र धारण करू या जप करू

  21. Mera name chandan patel …
    Mera janm Islampur, bihar me hua ha
    Mera D.O.B 24 Feb 1994 hai.
    Mai ek ladki se pyar karta hu par uske ghar wale raaji nai hme kya karna chahiye usase hm bahut payar karte haii

  22. नमस्कार !
    आपकी जन्म कुंडली में इस समय मंगल की महादशा चल रही है जो अगले वर्ष मार्च की 10 तारीख तक रहेगी. उसके बाद राहु की महादशा आरंभ हो जाएगी. अभी कुंडली में मंगल की छिद्र दशा चली हुई है इसीलिए आपको परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. मंगल आपके लिए योगकारी है और उच्च राशि में स्थित है लेकिन अभी गोचर में मंगल काफी समय से खराब हालत में है. आपको मंगल के मंत्रों का जाप करना चाहिए. साथ ही आपकी कुंदली में लग्नेश चंद्रमा अपनी नीच राशि में स्थित है जिस पर शनि व मंगल का एक साथ भ्रमण हो रहा है. शनि की साढे़साती व खराब गोचर के कारण ही आप मानसिक रुप से परेशान है.

    आप शनि की पूजा ज्यादा से ज्यादा करें. आपको लाभ होगा.

  23. नमस्कार!

    आपकी जन्म कुंडली में अभी शुक्र में बुध की दशा चल रही है. आपका मन ही नहीं लगता पढ़ाई में तब कैसे आप पास हो सकते हैं. अभी अक्तूबर के पहले सप्ताह से शुक्र में केतु की अन्तर्दशा आरंभ होगी तब मन और परेशान हो सकता है और साथ ही आपकी साढ़ेसाती भी आरंभ हो चुकी है. आप हर शुक्रवार को अंधे लोगों को सफेद वस्तुओं का दान करें. जैसे दूध, दही, चावल, चीनी अथवा आटा. एक सरस्वती मंत्र है जिसे आपको रोज 11 बार पढ़ना है, जब भी आप पढ़ने बैठे तब इस मंत्र के पढ़ने से पढ़ाई शुरु करें.

    सरस्वती महाभागे विद्ये कमललोचने
    विद्यारुपे विशालाक्षि विद्यां देहि नमोस्तुते

  24. DOB 16 May 81. 15:30 , place Pune
    My horoscope is worst.
    at least 30 years lots of trouble in life. Whoe life I have been dominated. Still single. Many times lost love/girls. Father is like brutal enemy, so as mother. At work could not give right justice to my abilities. Friends are worst. good earning but lots of expenses. Currently started mantra of shukra, Ketu, shani, Sun and Rahu. please suggest remedies so I can marry good girl, will I get good girl?? I had very great life, plans, behaviour, ethics, values, emotions, dreams,positivity, way of living life, excellent command on tries. But I lost all hopes in continuous 10 years failure. Now can marry girl but they are far far simple than my goodness of heart. I feel, marring simple girl I may not give right justice either me or that girl. Please suggest as per my horoscope

  25. नमस्कार !
    आपको जन्म के समय अष्टमेश मंगल की दशा मिली जो आठवें भाव में ही अपनी राशि मेष में स्थित है. आठवें भाव की दशा के साथ यदि बच्चा जन्म लेता है तब बहुत से उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ता है. उसके बाद आपकी कुंडली में दशाओं का क्रम अच्छा नहीं रहा. मंगल के बाद राहु की दशा जिसने आपको बहुत भटकाया और इस दशा में आपने जागते हुए बहुत से सपने देखे परंतु राहु है जो केवल भ्रम में रखता है सपने दिखाता है लेकिन पूरा नहीं करता है. उसके बाद बृहस्पति की महादशा दिसंबर 2000 से आरंभ हुई जो इस साल दिसंबर में खतम हो रही है. राहु से ज्यादा खराब आपके लिए गुरु हुआ क्योंकि गुरु आपकी कुंडली का बाधकेश ग्रह है. बाधकेश ग्रह के साथ आपकी शनि की साढे़साती भी शुरु हो गई जो अगले साल मार्च में खतम होगी. गुरु आपकी कुंडली में वक्री हैं जिसका अर्थ है कि आपको हर किसी काम में बार-बार प्रयास करने होगें. एक बार से अधिक प्रयास करने पर ही आपको कुछ मिलेगा. वक्री गुरु आपकी जन्म कुण्डली में वक्री शनि के साथ लग्न में स्थित है. गुरु आपके विवाह स्थान तो शनि आपके पांचवें भाव का स्वामी है. इस पांचवें भाव से शिक्षा के साथ प्रेम संबंध भी देखें जाते हैं. जब विवाह स्थान का स्वामी पंचम भाव से संबंध बना रहा है और उसी की दशा भी 2000 से चली हुई है तो आपके प्रेम संबंध एक से ज्यादा बनने ही थे लेकिन आपकी कुंडली में देरी से विवाह के योग बने हैं इसलिए लड़कियाँ तो जीवन में आई मगर टिक नहीं पाई.

    कुण्डली के तीसरे भाव से आपके सहकर्मी देखे जाएंगे लेकिन तीसरा भाव कुछ पीड़ित है इसलिए आफिस में सहकर्मियों से ज्यादा सहयोग शायद ही मिल पाए. आपका मन हवा की तरह दौड़ता है, बहुत सपने और ख्याल मन में हमेशा तैरते रहते हैं लेकिन उन्हें ठोस आधार नहीं मिल पाता है. आप मन की बात शेयर नहीम कर पाते हैं. आप दूसरों से बहुत अपेक्षा रखते हैं लेकिन जब वह अपेक्षाएँ पूरी नहीं होती तब आप जरुरत से ज्यादा हताश हो जाते हैं. आत्मविश्वास की कमी भी आपके भीतर दिखाइ देती है. आपने हमसे प्रश्न किया और हमने आपको जवाब दिया लेकिन कुण्डली देखने का लाभ तभी होगा जब आप बातई गई बातों पर अमल करें.

    आप शनि, राहु, शुक्र, केतु व सूर्य के मंत्र जाप कर रहे हैं लेकिन जिस ग्रह की महादशा चली हुई है उसके लिए आपने कुछ किया ही नहीं? महादशाएँ घर में आए मेहमान की तरह होती हैं जिनका आदर-सत्कार किया जाता है. लेकिन आपने यह नहीं किया. गुरु में राहु की दशा चली हुई है जिसे हम ज्यादा अच्छा नहीं कह सकते हैं क्योंकि राहु बुद्धि को खराब करता है और आपका पचम भाव भी राहु/केतु अक्ष पर है. आप अभी दिसंबर तक रोज नारायण कवच का पाठ करें और यदि आप पाठ नहीं कर सकते हैं तो यू-टयूब पर जाइए वहां से इस पाठ को अपने मोबाईल में डाउनलोड करें. आजकल सभी के पास स्मार्ट फोन है ही, इसे रोज सुनें. साथ ही रोज आप शिवलिंग में जल दें दिसंबर तक. शनि की जाती हुई साढ़ेसाती है तो आपको शनि स्तोत्र का पाठ हर शनिवार को करना चाहिए. ये पाठ भी आपको हमारी साईट से मिल जाएगा. इस शनि स्तोत्र का पाठ आप हमेशा करें क्योंकि शनि की महादशा आपकी जन्म कुंडली में दिसंबर माह से आरंभ हो रही है.

    आपका विवाह देरी से होना लिखा था लेकिन अभी दशा भी आरंभ है और ग्रहों का गोचर भी आपका विवाह होने का प्रोमिस दे रहा है. एक साल के भीतर आपका विवाह हो जाएगा बल्कि अभी अगस्त मध्य से दिसंबर तक प्रबल योग बन रहे हैं तो कहीं ना कहीं आपका विवाहत तय हो जाएगा. आपको जो काम कहे गए हैं उन्हें आप नियमित रुप से करेगें तो आपको अवश्य ही लाभ मिलेगा.

  26. आपकी कुण्डली में प्रेम संबंध तो हैं लेकिन वह सफल नहीं हो पाएंगे. बेहतर है कि अभी पढ़ाई में ध्यान दो और फिर अच्छी सी नौाकरी देखों या कोई काम करो तभी लड़की से विवाह हो पाएगा अन्यथा नहीं होगा. अब तुम तो प्यार करते हो तो अपने पैरों पर अच्छै से खड़े हो जाओगे तो शायद लड़की माता-पिता मान भी जाएं.

  27. Thanks Chander Prabhaji आपके पदस्पर्श. अपने मेरा विश्वास बडा दिया … शिव भक्त, हनुमान भक्त और शनी भक्त तो हम बचपण से ही थे .. गुरु भक्ती में पिचे राह गये.. आपके सुजाव हम पुरी सिद्धत से करेंगे और पुरी उमर करते रहेंगे

  28. date.14jan 1984_time -2:30pm स्थल
    parli vaidyanath.dist beed maharastra
    शुभ और अशुभ ग्रह बताये.धन यैश्वर्य के लिये कौन से ग्रह का यंत्र धारण करू या जप करू.प्लीज प्लीज क्रपा करे बताये मॅडम

  29. आपकी जन्म कुंडली में सारे शुभ ग्रह अशुभ ग्रहों के चंगुल में है. राहु की महादशा चल रही है. आपका लग्न का स्वामी शुक्र, राहु/केतु से पीडित है. चंद्रमा जो मन है वह भी राहु से पीडित है. आपको रोज सुबह नियम से नवग्रह स्तोत्र का पाठ करना चाहिए. आप राहु के लिए शनिवार के दिन कुछ दान करें. अपाहिजों को दान दें. राहु के मंत्र की एक माला रात में करें. राहु यंत्र लें और उसकी पूजा करें व राहु यंत्र को चंदन का तिलक लगाएं. आप भी चंदन का तिलक रोज लगाएँ. धनागमन के लिए आपको कुबेर मंत्र का जाप करना होगा तभी आपके पास लक्ष्मी का वास होगा.

  30. श्री चंद्र प्रभा जी,

    मुझे तक़रीबन १ वर्ष से काफ़ी तकलीफ़ों का सामना करना पड़ रहा है ओर नौकरी भी नहीं रही, मानसिक ओर पैसों की भी तंगी चल रही है, कृपा करके आप बताइए में क्या करूँ.
    मेरी जनम तारीख़ : २६,१०,१९७६ है
    स्थान : मेरठ (यू॰पी॰)
    समय : दोपहर १४:५५
    आप मुझे विस्तार में ईमेल व कुछ और पूछना हो तो पूँछ सकते हो.

  31. meri date of birth
    17/10/1987
    samay
    4:13 pm
    place:-dhar Madhya Pradesh
    please mujhe hamesha samsya bani rahti he gambhir samsaya kripa kar samadhan bataye
    bhagya uday kab hoga or kis filed me hoga.
    mene singing ke liye practice kar raha hu parntu money ke abhav me samsya rahti he .please marga darshan kare.
    fimli career ho sakta he ya or koi sa career.
    thanks I Wait for reply

  32. पिछले साल नवंबर से आपकी जन्म कुंडली में सूर्य की महादशा शुरु हुई है और सूर्य आपकी कुंडली में अशुभ स्थान में स्थित हैं इसलिए आपके काम सफल नहीं हो रहे हैं. आप सूर्य को रोज सुबह नियमित रुप से जल देँ. यह दशा 6 साल तक चलेगी तब तक आपको जल देना बंद नहीं करना है. जल में कुछ दाने चीनी के या शक्कर के जरुर डाले. सुबह के समय ही सूर्य के मंत्र का जाप 108 बार करें. हर रविवार को आप सूर्यदेव के लिए व्रत रखें और इस व्रत में आपको एक समय का भोजन करना है. भोजन में केवल मीठा खाना है, नमक बिलकुल भी नहीं खाना है. रविवार को सुबह ही आप आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें. उसका लिंक मैं आपको दे रही हूँ.

    https://chanderprabha.com/2012/09/02/aditya-hridaya-stotra/

  33. बिना कुंडली देखे नहीं बताया जा सकता कि ये चर्म रोग किस वजह से है. इसलिए अपना पूरा जन्म विवरण दें.

  34. बहुत आभार आपका …..कृपया यह भी बता दें की लोहे का छल्ला बाएं हाथ या दाएं हाथ की माध्यम ऊँगली में पहनना है (शनि की वर्तमान दशा के अनुसार )…..धन्यवाद मैडम जी
    नाम सीताराम , जन्म तारीख 18 oct 1983, जन्म समय 4.45 am, जन्म स्थान nawada(बिहार)है

  35. क्षमा प्रार्थी हूँ पर संसय का निराकरण भी आबश्यक है,मैडम जी एक ज्योतिष आचार्य ने मुझे कहा कि आपकी शनि की महादशा चल रही है (अब से 9 वर्ष 6 lord के रूप में चलेगी),आपकी कुंडली में शनि अस्त है और लाभेश चंद्रमा को मजबूत करने के लिए अस्त शनि को पस्त करना आबश्यक है इसलिए आप इसे बाए हाथ के माध्यमा में पहने और एक मोती को धारण करें, परन्तु बाये हाथ में पहनने से सायद परेशानी बढ़ रही है ऐसा लग रहा है,इसीलिए आपका मार्गदर्शन चाहता हु……धन्यवाद

  36. My DOB is 2nd december 1990 hai
    time 12:50 PM (afternoon)
    Place:- JABALPUR (MP)

    meri job kab tak lag sakti hai
    main sarkari naukari ki taiyaari kar raha hoon
    kya govt job me success mil sakti hai

    and maine neelam aur opal pehna hua hai

  37. AADARNIYA CHANDRAPRABHAJI NAMASKAAR .Y BAHUT PARESHAAN HUN MERA BUSINESS BANDH HO GAYA HAI NAUKARI KARANE KI NOUBAT AA GAYI HAI. MEDAMJI VAPIS MERA KHUD KA BUSSINESS KAB HOGA.

  38. आप जब एक ज्योतिषी से परामर्श ले चुके हैं तब आप दुबारा क्यूँ पूछ रहे हैं? और आपके पिछले प्रश्न में मैं बता चुकी हूँ कि आपको लोहे का छल्ला किस अंगुली में पहनना है!! चंद्रमा आपकी कुंडली में अच्छा है ही नहीँ तो वह कैसे आपको अनुकूल फल दे सकता है. मोती पहनकर आपको खराब स्थिति का ही सामना करना पड़ेगा. चंद्रमा का मोती पहनना ऎसा ही है जैसे किसी निहत्थे बदमाश के हाथ में तलवार पकड़ाकर उसे और मजबूत कर दिया गया हो.

    मुझे जो बताना था बता दिया अब उसे मानना ना मानना आपका काम है. कोई भी उपाय आप करते हैं तब थोड़ा संयम भी रखना पड़ता है.

  39. Namaste mam…..
    My name is Arun Kumar
    D. O. B 14/04/1989
    Birth time 21:15
    Place Amroha Uttar Pradesh
    Mam mera time bahot jada khrab kyu hai….. Meri govt job hogi ya ni aur hogi to kb tk hogi? Aur meri shadi kab hogi… Meri pasand ki ladki se hogi ya nhi…?? Pls btaye…

  40. नमस्ते चंद्रप्रभा मैडम जी
    मेरा नाम विजयंत पांडेय है
    मेरी जन्म तिथि 2nd december 1990
    समय – दोपहर 12:50 PM
    मेरा जन्म स्थान – जबलपुर (मध्य प्रदेश)
    मैं अपनी नौकरी के लिए बहुत परेशान हूँ
    बहुत कोशिश कर रहा हूँ पर नौकरी नहीं लग पा रही है

    सरकारी नौकरी के लिए कोशिश कर रहा हूँ
    कृपया मार्गदर्शन दें कि क्या मुझे सरकारी नौकरी मिलने के योग है
    बहुत परेशान हूँ कृपया उचित मार्गदर्शन दें

    कुछ एक साल पहले मेरी मम्मी जी ने किसी पंडित जी से पूछकर मेरे लिए नीलम और ओपल रत्न बनवाया था
    और कहा था कि कि नौकरी इसी साल लग जाएगी
    पर साल ख़तम होने आया परंतु नौकरी नहीं है हाथ में

    कृपया मदद करें

  41. namaste mam

    mera naam anuj hai. mera birth 01/02/1989, time 6:30pm, place panipat me hua hai.
    suru se hi meri tabiyat thik nhi rehti hai or iss time kuch jada hi kharab chal rahi. kisi pandit ke kehne per maine 4/5 month pehle kaal sarup dosh ki puja bhi kerwai thi.
    per meri tabiyat me kuch bhi sudaar nhi aaya abhi tak. madam please meri kundli ko dekh ker, meri problem ka upchar btaiye

  42. madam upar di date of birth actual 01/02/1987 hai jo galti se 01/02/1989 likihi gyi upar wale message me.

    maam please kundli ko dekh ker problems ka upchar btaiye……

  43. आपकी कुंडली में दशा और अन्तर्दशा दोनों ही खराब चल रही हैं. महादशा बुध की है और बुध आपकी कुंडली में खराब भाव का स्वामी है और खराब भाव में ही स्थित है. आपका लग्न जिससे आपका मन और शरीर देखा जाएगा वह भी आठवें भाव में स्थित होकर पीड़ित है और जब बुध की दशा आई तो धीरे-धीरे बढ़ने लगी लेकिन जैसे ही शुक्र की अन्तर्दशा आई आपकी तबीयत ज्यादा बिगड़ने लगी. शुक्र की यह दशा अभी अगले साल अक्तूबर तक चलेगी.

    काल सर्प की पूजा कराने का अर्थ यह नहीं कि खराब समय निकल गया क्योंकि जो दशा चल रही है उसका उपाय आप कीजिए. बुध के मंत्र का जाप रोज सुबह या शाम 108 बार अवश्य करें. ये मंत्र आपको मेरी साईट से ही मिल जाएगा. बुध के कई मंत्र है जो आप आसानी से कर सकते हैं उस मंत्र को चुन ले. उत्तर अथवा पूर्व की ओर मुँह कर के बैठे तब मंत्र का जाप करें. बुधवार के दिन हरी वस्तुओं का दान अवश्य करें. शुक्रवार को आप सफेद वस्तुओं का दान जरुर करें.

    सवा सात रत्ती का एक मोती चाँदी में बनवाएँ और उसे पूर्णिमा अथवा शुक्ल पक्ष के सोमवार को सुबह सूर्योदय होने के एक घंटे के भीतर दाएँ हाथ की सबसे छोटी अंगुली में धारण करें. इससे आपको कुछ फर्क होगा. इसके साथ ही एक मंत्र और दे रही हूँ जिसे आपको सुबह-शाम दोनों समय 108 बार पढ़्ना है. “ऊँ हौं जूं स: माम पालय-पालय स: जूं हौं ऊँ” इसका जाप जरुर करें. वैसे दशा आपकी हर जगह अभी खराब ही है लेकिन जो काम आपको बताए गए हैं उसे आप करेगें तो लाभ अवश्य होगा.

  44. madam

    budh ka mantra or om hom jum sa maam palay palay sa jum hom om mantra, dono mantra ek sath kare, ya kuch sahmay ka break de ker kare ?

    or dono mantro ke liye ek hi rudra ki mala ka upyog ker sakte hai ya alag alag mala leni hai

  45. ॐ नम: शिवाय गुरूजी

    मेरा नाम राजेंद्र हे मेरी जन्म तारीख 6 सितम्बर 1984 समय सुबह 7:25 AM जन्म स्थान पुणे महाराष्ट्र

    मैंने आपके बताये हुये राहु के उपाय विश्वास के साथ कर रहा हू , ओर मुझे उसका फल भी मिल रहाहै( दिमागी शांती ) , पर मेरे ओर प्रश्न हे ?
    १)मुझे ५ साल ओर ७ साल कि दो लड़की हे क्या मुझे १ पुत्र प्राप्त हो सकता हे ?

    २)मे electronic संबंधी private company मे कार्य काम कर रहा हुए ७/८ साल हो गये पर कोई बढ़ती नही हो गई ,क्या मेरा क्षेत्र अलग हे ? मे कोई खुदका व्यवसाय कर सकता हू क्या किस क्षेत्र मे सफलता पा सकता हू , बारबार मेरे मन मे विचार आते हे कि खुद का कोई business करूं ?

    ३) मेरे education मे भी बहुत समस्या आ गये मे अब external arts side से second year मे हू , क्या ये education के बारे मे मेरा फैसला बराबर हे क्या ?

    ४) कुंडली के गणित से मेरे कोण से ग्रह शुभ ओर अशुभ हे, ताकि मे उन्हें ओर बलवान बना सकूंगा ,ओर जो अशुभ हे उन्हें शुभ कैसे कर सकता हू , मेरे कुंडली मे कालसर्प योग बन रहाहै क्या क्योंकी समस्या बढ़ती जा रही हे घर मे कभी कभी कलश झगड़ों का मोहल बनता हे .

    ५) २/३ महीने मे एक बार मेरे नाक के नीचे ज्वर आता हे या तो चेहरे पर फोड़ आते हे इसका क्या मतलब हो सकता हे ?

    ६) मेरा भाग्य रत्न कोण सा हे मे कोण कोण से भाग्य रत्न इस्तेमाल कर सकता हू ओर मुझे ओ original कहा मिल सकते हे ?

    * मे आशा करता हू की मेरे सारे प्रश्नों के उत्तर मिलने वाले हे .

    प्रणाम गुरुजी

  46. मेम को प्रणाम
    मेम मेरा जन्म 22.07.1986 09:20 am daltonganj jharkhand मिनट मे हुवा है ा मै कोई भी कार्य करता हु वह पुरा नही होता है आप कृप्या करे मे क्या करू मे आप का आशिर्वाद चहाता हू बता ये

  47. meri date of birth hai 30-April – 1986
    time of birth – 3:20 pm
    place of birth- north west delhi.
    kya IAS banne k chance hain?
    padhayi beech mein ruk gayi hai.
    career bhi kuch nhi hai.
    pitaji bohot Beemar rahte hain.
    pitaji ko paralysis aur mirgi bhi hai
    Kuch upay bataiye please

  48. जन्मदिन-12/1/1977
    समय-10:25am
    स्थान-प्रतापगढ यूपी
    नाम-राजीव कुमार श्रीवास्तव।मेरा कोइ काम बहुत बाधा के साथ होता है उपाय बताइये

  49. pandit ji mere upar suckr dev ki dsa sahee nhe hai kya aap btaye na plllzzzz …mai baht jada presan rahta hu ..kuchh upay btaeeye.na pllzz pandit ji.
    mera janm ..january fast week UP MIRZAPUR me…

  50. आपको शुक्र के मंत्रो का जाप कराकर दशांश हवन कराना चाहिए. उसके बाद नियमित रुप से रोज एक माला शुक्र के मंत्र की करनी चाहिए. शुक्रवार के दिन अंध विद्यालय में जाकर खाने की वस्तुओं का दान करना चाहिए.

  51. Date 06/09/1984 Time 8:30 Place pune maharashtra सरकारी या private नोकरी के विषय मे जानकारी चाहिए की कोणसे क्षेत्र मे काम कर सकता हू या व्यापार कर सकता हू ताकि मुझे सफलता मिल सके गुरुजी .

  52. Date 06/09/1984 Time 8:30AM Place pune maharashtra सरकारी या private नोकरी के विषय मे जानकारी चाहिए की कोणसे क्षेत्र मे काम कर सकता हू या व्यापार कर सकता हू ताकि मुझे सफलता मिल सके गुरुजी .

  53. I am sanjeev kohli from faridabad haryana, DOB 03.01.71 and time is 06:00 pm. i am facing so many time problem with my wise, always she is not well she is facing so many type of physically problem. Kaya Sukra ke dhosh ke karan hai. my mail is : sanmkohli@gmail.com

  54. good morning madam, my name is ajeet singh, DOB is 23 oct. 1981 Birth time 22.05 Birth Place Hapur. Uttar pradesh.I am graduate alongwith one year computer hardware and networking diploma,
    and i have 7 years of exp. in same field. Mam i just want a job in gulf country. Please help me out to provide the details taht is it possible to me. Thanking you-

  55. आपकी कुण्डली में अगले महीने अक्तूबर के मध्य भाग के बाद से स्थान परिवर्तन के योग बनेगे. आप अपने प्रयास जारी रखें. आपकी कुण्डली में अभी राहु की महादशा आरंभ हो चुकी है जो आपको रुकावट के साथ ही आगे बढ़ाएगी. आप राहु के उपाय करें.

  56. meri date of birth hai 11-Nov.1981
    time of birth – 22:40 pm
    place of birth-Jaipur,Rajasthan, mera name laxmi naryan hai, or doc main pawan hai
    meri shadi ko 10 year ho gaye hai meger abbe teek bacha nahi hua hai koi or doctor se treatment bhe bahut leya per koi kaam nahi ayya, hum bhaut persan hai so please hume koi samadhan batyo

  57. अपनी पत्नी का जन्म विवरण भी दें तभी हम पूरी तरह से कुछ कह पाएंगे कि क्या और कहाँ ज्यादा परेशानी आ रही है.

  58. नमस्कार मैम
    मै गिरीश
    जन्म =02/05/1987
    समय=5:30am
    स्थान =bhiwandi, Maharashtra
    मै जानना चाहता हूँ कि मुझे नौकरी लगे कि नहीं, और पत्नी से बनती नही है please उपाय बताए |
    पत्नी = ममता
    जन्म =17/01/1987
    समय=11:45am
    स्थान = barauni, bihar

  59. ravindra shivjai bhalerao
    22.05.1977 at 1:30 am mid night saturday & sunday , latur maharashtra . pet name : chagan . not getting progress in life

  60. शुक्र आपकी कुण्डली क लग्नेश होकर अच्छा है लेकिन कुण्डली में जहाँ ये बैठा है वह अच्छा नहीं है. साथ ही जिस कुण्डली से हम आपका कामकाज देखेंगे वहां शुक्र नीच का हो गया है इसलिए जो फल इसे देने चाहिए वह नहीं दे पा रहा है. वैसे भी इस समय आपकी कुण्डली में शुक्र की छिद्रदशा चल रही है अर्थात शुक्र की बीस साल की महादशा अगले साल 11 अगस्त को खतम हो रही है. इसके बाद आपकी कुण्डली में सूर्य की दशा आरंभ होगी तब आपका स्थान परिवर्तन हो सकता है.

  61. नमस्कार
    मेरा नाम – ANANT KULKARNI
    बर्थ date -6 septmber 1987
    TIME – 6 .10 am
    मेरा शुक्र कैसा है ? क्या मेरा नाम as per numerology correct है? अगर नही है तो मुझे मेरे नाम के स्पेल्लिंग मी क्या CHANGE KARNA चाहिये ?

  62. 11/2/73. Sunday 7.30 am. Meri Shadi kab Hogi mhuje beby kab Hogi
    मेरा शुक्र कैसा है मेरी शादी कब होगी मुझे संतान कब होगा क्या मेरे नसीब में संतान नहीं है ना मेरे सिर में शादी है प्लीज मुझे बताएं प्लीज प्लीज कृपा करके मेरा इस दुनिया में कोई नहीं है मैं अकेली हूं मुझे प्लीज बता दीजिए प्लीज मैं आपके हाथ जोड़ कर मुझे बता दीजिए मेरा जॉब भी नहीं है मेरा आगे का कैसा होगा मुझे प्लीज बता दीजिए बता दीजिए

  63. Dear Ma’am
    pranam
    DOB 29/10/1990
    PLACE SITAPUR UTTARPRADESH
    PLEASE MAAM MERI JOB AUR MARRIAGE SUCCESS NHI HAI PLEASE MUJHE BATAYE KI MERI ARTHIK STHITI AUR VAIVAHIK JEEVAN KAISA RHEGA .PLEASE MAAM BATAIYE JARUR.
    THANKYOU

  64. Dear mam
    my name is sumit ramlakhan kalwar
    DOB:- 26-04-1995
    Place:- Mumbai Sion hospital
    Question:- Naukri milne me kafi parehani aa rahi hai koi upay baatye.

  65. पिंगबैक: मंत्र  – amitsom
  66. नमस्ते चंद्रप्रभा जी,,,मेरा नाम=vishwajeet singh है मेरा जन्म समय =9.05am जन्म दिनांक ==17.05.1999है और जन्म स्थान ==ahor ,jalore (rajasthan) है मेरी कुंडली मे शनि ग्रह भाग्येश होकर नीच का है। क्या उसका खराब परिणाम होगा?और क्या उसका नीचभंग भी हो रहा है? कृपया कर मुझे मार्ग दिखाए मेरे भविष्यत के लिए ।इसके लिए मै आपका आभारी रहूंगा।

  67. Dear Mam
    Name Rita dhondiyal
    D.o.b 1 Feb 1995
    Time 1.10 PM
    Place Jammu & Kashmir
    Meri health thek nhi rahte hai bahut medicine le but koi fayada nhi hua headache shoulder me pain bahut pareshan ho gye hu please koi upay bataye
    And mera career kaisa rehege mai teaching
    Field me Jana chahti hu please meri health and career k liye koi upay bataye

  68. mera DOB:-13/04/1991 birth place :-datia(mp) time :- 11:55pm , meri marriage kab tak hone ke chances hai or government job ke liye try kar rahi hu kya mujhe government job mil sakti hai

टिप्पणियाँ बंद कर दी गयी है.