श्री पार्वती चालीसा और आरती

श्री पार्वती चालीसा  ।।दोहा।। जय गिरि तनये दक्षजे शंभु प्रिये गुणखानि । गणपति जननी पार्वती अम्बे ! शक्ति ! भवानि

पढ़ना जारी रखें