जन्म कुंडली के अनुसार समस्याएँ और उनका मंंत्रोपचार 

जन्म कुंडली में मौजूद दोषों के कारण व्यक्ति को जीवन में अनेकों बार असफलताओं का सामना करना पड़ता है. इन

पढ़ना जारी रखें

श्रीगणेश जी के विभिन्न स्वरुपों का ध्यान

भगवान गणेश – Lord Ganesha  सिन्दूरवर्णं द्विभुजं गणेशं लम्बोदरं पद्मदले निविष्टम । ब्रह्मादिदेवै: परिसेव्यमानं सिद्धैर्युतं तं प्रणमामि देवम ।।  

पढ़ना जारी रखें