महाभागवत – देवी पुराण – बत्तीसवाँ अध्याय 

इस अध्याय में देवासुर-संग्राम में देवसेनापति कार्तिकेय तथा तारकासुर के भीषण युद्ध का वर्णन है.  श्रीमहादेवजी बोले – तुरही के

Continue reading

महाभागवत – देवी पुराण – तीसवाँ अध्याय 

इस अध्याय में देवताओं द्वारा देवी पार्वती की स्तुति, भगवान शंकर के तेज से षण्मुख कार्तिकेय का प्रादुर्भाव, देवताओं के

Continue reading

महाभागवत – देवीपुराण – अठ्ठाईसवाँ अध्याय 

इस अध्याय में हिमालय द्वारा बारात का यथोचित सत्कार करना है, शिव-पार्वती के मांगलिक विवाहोत्सव का वर्णन है, शिव-पार्वती के

Continue reading

error: Content is protected !!