श्रावण मास माहात्म्य – अट्ठाईसवाँ अध्याय

अगस्त्य जी को अर्घ्य प्रदान की विधि ईश्वर बोले – हे ब्रह्मपुत्र ! अब मैं अगस्त्य जी को अर्घ्य प्रदान

पढ़ना जारी रखें

श्रावण मास माहात्म्य – सत्ताईसवाँ अध्याय

कर्क संक्रांति और सिंह संक्रांति में किए जाने वाले कार्य ईश्वर बोले – हे सनत्कुमार ! श्रावण मास में कर्क

पढ़ना जारी रखें

श्रावण मास माहात्म्य – छब्बीसवाँ अध्याय

श्रावण अमावस्या को किये जाने वाले वृष पूजन और कुश ग्रहण का विधान ईश्वर बोले – हे सनत्कुमार ! श्रावण

पढ़ना जारी रखें

श्रावण मास माहात्म्य – चौबीसवाँ अध्याय

श्रीकृष्णजन्माष्टमी व्रत के माहात्म्य में राजा मितजित का आख्यान ईश्वर बोले – हे ब्रह्मपुत्र ! पूर्वकल्प में दैत्यों के भार

पढ़ना जारी रखें

श्रावण मास माहात्म्य – बाईसवाँ अध्याय

श्रावण मास में किए जाने वाले संकष्ट हरण व्रत का विधान ईश्वर बोले – हे मुनिश्रेष्ठ ! श्रावण मास में

पढ़ना जारी रखें

श्रावण मास माहात्म्य – इक्कीसवाँ अध्याय

श्रावण पूर्णिमा पर किये जाने वाले कृत्यों का संक्षिप्त वर्णन तथा रक्षा बंधन की कथा सनत्कुमार बोले – हे दयानिधे

पढ़ना जारी रखें