धनिष्ठा अथवा श्रविष्ठा नक्षत्र और व्यवसाय

धनिष्ठा नक्षत्र का विस्तार मकर राशि में 23 अंश(Degree) 20 कला(Minute) से लेकर कुंभ राशि में 6 अंश 40 कला तक रहता है. इस नक्षत्र का स्वामी ग्रह मंगल है. इस नक्षत्र के अन्तर्गत निम्नलिखित व्यवसाय आते हैं :-

इस नक्षत्र में संगीतज्ञ,नर्तक, मंच कलाकार, मनोरंजन उद्योग के आयोजक व प्रबन्धक, ढोल, मृदंग अथवा विभिन्न वाद्य बजाने वाले लोग, रचनात्मक कलाकार, कवि, गीतकार, गायक, संगीतकार, वाद्य यंत्र निर्माता,  सेना में वाद्य वादक दल के सदस्य, मणि, रत्न, सोने-चाँदी के व्यापारी, एथलीट अथवा खिलाड़ी, सामूहिक कार्य दल का सदस्य, भू-संपदा व्यापार, भवन सज्जा, आवास विकास से जुड़े कलात्मक कार्य, वित्त प्रबन्धन अथवा वित्त पोषण बैंक अधिकारी, वैज्ञानिक अथवा भौतिकी विशेषज्ञ(Physicist), कम्प्यूटर वैज्ञानिक, योद्धा व सैन्य कर्मी आदि आते हैं.

इसके साथ ही ज्योतिषी, तांत्रिक, आध्यात्मिक चिकित्सक, सम्मोहन तथा प्रेत विद्या के जानकार, दैवीय चिकित्सक,कुंडलिनी योग के जानकार, शल्य चिकित्सक, चिकित्सा शास्त्री, दवा व्यवसाय, सैक्स चिकित्सा, जनसेवक, धनाढ़्य लोग, केशसज्जा, गहने बेचना, फैशन का सामान, वाहन, यंत्र उपकरण तथा इलैक्ट्रोनिक सामान का प्रयोग करने वाले कारीगर, तकनीशियन, बहुआयामी कार्य क्षमता वाले कार्य, कार्य व्यवस्थापक अथवा प्रशासन अधिकारी आदि इस नक्षत्र के अन्तर्गत आते हैं.

धनिष्ठा नक्षत्र जातक को बहुमुखी प्रतिभा प्रदान करता है और विविध प्रकार आजीविका से धन व सफलता दिलाता है.    

Advertisements
%d bloggers like this: