महाभागवत – देवी पुराण – बीसवाँ अध्याय 

इस अध्याय में भगवती का विविध बालोचित लीलाओं द्वारा हिमालय तथा मेना को आनन्दित करना, देवर्षि नारद द्वारा देवी के

पढ़ना जारी रखें

महाभागवत – देवी पुराण – उन्नीसवाँ अध्याय 

इस अध्याय में हिमालय को तत्त्व ज्ञान का उपदेश प्रदान कर देवी का सामान्य बालिका की भाँति क्रीडा करना है,

पढ़ना जारी रखें

महाभागवत – देवी पुराण – सत्रहवाँ अध्याय 

इस अध्याय में भगवती गीता के वर्णन में ब्रह्मयोग का उपदेश, पाँचभौतिक देह, गर्भस्थ जीव का स्वरुप तथा गर्भ में

पढ़ना जारी रखें

महाभागवत – देवी पुराण – सोलहवाँ अध्याय 

इस अध्याय में भगवती गीता के वर्णन में ब्रह्मविद्या का उपदेश है, आत्मा का स्वरूप, अनात्मपदार्थों में आत्मबुद्धि का परित्याग,

पढ़ना जारी रखें

महाभागवत – देवीपुराण – पंद्रहवाँ अध्याय 

इस अध्याय में हिमालय और मेना की तपस्या से प्रसन्न हो आद्यशक्ति का “पार्वती” नाम से हिमालय के यहाँ प्रकट

पढ़ना जारी रखें