पुनर्वसु नक्षत्र

download

पुनर्वसु नक्षत्र का विस्तार मिथुन राशि में 20 अंश(Degree) से कर्क राशि(Cancer Sign) में 3 अंश(Degree) 20 कला(Minute) तक रहता है. पुनर्वसु नक्षत्र का स्वामी ग्रह गुरू है.

होटल, रेस्तरां व्यवसाय, पर्यटन व्यवसाय, अंतरिक्षयान सेवा, परिवहन सेवा मे कार्यरत कर्मचारी, आदि पुनर्वसु नक्षत्र में आने वाली सेवायें है.

सिनेमा, रेडियो तथा दूरदर्शन के कलाकर, उपग्रह संचार प्रणाली, कूरियर तथा डाक सेवा प्रणाली आदि सभी प्रकार की संचार प्रणालियाँ भी पुनर्वसु नक्षत्र के अंतर्गत आती हैं. अध्यापन तथा हर तरह का प्रशिक्षंण देने का कार्य आदि पुनर्वसु नक्षत्र के अंतर्गत आते हैं.

हर प्रकार के प्रबंधन कार्य जैसे मंदिर प्रबंधन, घर-होटल-छात्रावास-धर्मशाला आदि की रख-रखाव सेवायें, गूढ़ ज्ञान व विद्या, विभिन्न प्रकार के साहित्य रचेयता जैसे ज्योतिष साहित्य, पुरानी और दुर्लभ वस्तुओं का व्यवसाय करने वाले सभी इस नक्षत्र के अधिकार में आते हैं.

दार्शनिक, मनोवैज्ञानिक, मठाधीश धर्म गुरू, पुरोहित, व्यक्तित्व निखार कार्यक्रम, हाथ के कारीगर जो हाथ से बनी चीजों का व्यवसाय करते हैं, आधुनिक समय में ब्यूटी पार्लर या मेक ओवर करने वाले व्यक्तियों का व्यवसाय,  आज के युग में सभी प्रकार के प्लेसमेन्ट आफिस पुनर्वसु नक्षत्र के अंतर्गत आते हैं.

गिफ़्ट आइटम बनाने वाले व्यवसायी, सभी प्रकार के व्यापारी वर्ग,  चित्रकार जो अपनी कला से आजीविका कमाते है, सभी प्रकार के डिजाइनर आदि पुनर्वसु नक्षत्र में आते हैं. पुरानी व बेकार वस्तुओं से नई चीजों का निर्माण करने का व्यवसाय जैसे अखबार, काँच व प्लास्टिक की वस्तुओं आदि का पुनरनिर्माण करना आदि पुनर्वसु नक्षत्र के अधिकार क्षेत्र में आते हैं.

Advertisements
%d bloggers like this: