अश्विनी नक्षत्र और व्यवसाय

on

Ashwini-Nakshatra

अश्विनी नक्षत्र का विस्तार मेष राशि में शून्य से 13 अंश 20 कला तक है. इस नक्षत्र का स्वामी ग्रह केतु है.

अश्विनी नक्षत्र निम्नलिखित व्यवसायों का कारक है :-

घुड़्सवार बनना, घोड़ों का प्रशिक्षक बनना, घोड़ों का जॉकी बनना, घोड़ों से संबंधित सभी कार्य. सभी प्रकार की स्वास्थ्य सेवाएं, कैमिस्ट या औषधि निर्माता, अस्पताल में उपयोग में लाए जाने वाले विभिन्न उपकरणों का निर्माता, प्रसूति सलाहकार या परामर्शदाता, बावर्ची या आधुनिक समय में शेफ (chef) का कार्य करने वाले व्यक्ति.

आधुनिक समय में वे सभी कार्य जो गतिशील हैं जेसै दौड़-भाग और खेल-कूद से संबंधित कार्य. नृत्य, परिवहन से संबंधित कार्य, कृषि व नर्सरी से संबंधित कार्य, अध्यापक या प्रशि़क्षक, वाहन रेस, सभी प्रकार के जोखिम से भरे कार्य अश्विनी नक्षत्र के अन्तर्गत आते हैं.

नए कार्यों की खोज या सभी प्रकार के अन्वेषण संबंधी कार्य, नए उत्पाद या नए शोध करना, भूमि पूजन या किसी भवन या नई इमारत का शिलान्यास करना, कानून से संबंधित सभी कार्य इस नक्षत्र के अन्तर्गत आते हैं. सेना और पुलिस अधिकारी भी इस नक्षत्र के अन्तर्गत आते हैं.

सिविल इंजीनियर, इलेक्ट्रिक इंजीनियर और मैकेनिकल इंजीनियर इस नक्षत्र के अन्तर्गत आते हैं. आभूषण निर्माता, सभी प्रकार के दुकानदार और विक्रेता, सभी प्रकार के छोटे व्यवसायी अश्विनी नक्षत्र में आते हैं. वाहन उद्योग से सम्बद्ध लोग, सुन्दरता का व्यवसाय करने वाले लोग और विज्ञापन के क्षेत्र से जुडे़ व्यक्ति, वैश्यवर्ग, अभिनेता, मॉडल आदि व्यक्ति अश्विनी नक्षत्र के अन्तर्गत आते हैं.

भरणी नक्षत्र व्यवसाय(Bharani Nakshatra And Profession)

Advertisements