श्रावण मास माहात्म्य – बारहवाँ अध्याय

स्वर्णगौरी व्रत का वर्णन तथा व्रत कथा ईश्वर बोले – हे ब्रह्मपुत्र ! अब मैं स्वर्णगौरी का शुभ व्रत कहूँगा,

पढ़ना जारी रखें

श्रावण मास माहात्म्य – छठा अध्याय

सोमवार व्रत विधान सनत्कुमार बोले – हे भगवन ! मैनें रविवार का हर्षकारक माहात्म्य सुन लिया, अब आप श्रावण मास

पढ़ना जारी रखें

श्रावण मास माहात्म्य – पाँचवाँ अध्याय

श्रावण मास में किए जाने वाले विभिन्न व्रतानुष्ठान और रविवार व्रत वर्णन में सुकर्मा द्विज की कथा ईश्वर बोले –

पढ़ना जारी रखें

श्रावण मास माहात्म्य – चौथा अध्याय

धारणा-पारणा, मासोपवास व्रत और रूद्र वर्तिव्रत वर्णन में सुगंधा का आख्यान ईश्वर बोले – हे सनत्कुमार ! अब मैं धारण-पारण

पढ़ना जारी रखें