कामाक्षी माहात्म्यम

स्वामिपुष्करिणीतीर्थं पूर्वसिन्धुः पिनाकिनी। शिलाह्रदश्चतुर्मध्यं यावत् तुण्डीरमण्डलम् ।।1।।   मध्ये तुण्डीरभूवृत्तं कम्पा-वेगवती-द्वयोः। तयोर्मध्यं कामकोष्ठं कामाक्षी तत्र वर्तते ।।2।।   स एव

पढ़ना जारी रखें

दशमहाविद्या जयंतियाँ 2020

  दशमहाविद्या जयंतियाँ 2020 तिथियाँ (Dates)   दिन (Days) मास (Hindu Month) 9 फरवरी  रविवार  श्रीललिता जयन्ती  2 अप्रैल  बृहस्पतिवार  श्रीमहातारा

पढ़ना जारी रखें

दशावतार जयन्तियाँ 2020

  तिथियाँ (Dates)   दिन (Days)  मास (Hindu Month) 27 मार्च  शुक्रवार  श्रीमत्स्य जयन्ती  2 अप्रैल  बृहस्पतिवार  श्रीराम जयन्ती (श्रीराम नवमी) 

पढ़ना जारी रखें

श्री लक्ष्मी अष्टोत्तर शतनामावली – लक्ष्मी जी के 108 नाम

वन्दे पद्ममकरां प्रसन्नवदनां सौभाग्यदां, हस्ताभ्या-अभयप्रदां मणिगणैर्नानाविधैर्भूषिताम । भक्ताभीष्टफलप्रदां हरिहर-ब्रह्मादिभि: सेवितां, पाश्र्वे पंकज-शंख-पद्म-निधिभिर्युक्तां सदा शक्तिभि:।। सरसिजनिलये सरोजहस्ते धवलतरांशुक-गन्ध-माल्य-शोभे । भगवति हरिवल्लभे

पढ़ना जारी रखें

सप्तश्लोकी दुर्गा

शिव उवाच देवि त्वं भक्तसुलभे सर्वकार्यविधायिनी। कलौ हि कार्यसिद्धयर्थमुपायं ब्रूहि यत्नत: ।। देव्युवाच शृणु देव प्रवक्ष्यामि कलौ सर्वेष्टसाधनम । मया

पढ़ना जारी रखें

श्री राधाकृपाकटाक्षस्तवराज

मुनीन्द्र-वृन्द वन्दिते त्रिलोक-शोक-हारिणि प्रसन्न-वक्त्र-पंकजे निकुंज-भू-विलासिनि । व्रजेन्द्र-भानु-नन्दिनि व्रजेन्द्र-सूनु-संगते कदा करिष्यसीह मां कृपाकटाक्षभाजनम ।।1।। अशोक-वृक्ष-वल्लरी-वितान-मण्डप-स्थिते प्रवाल-बालपल्लव-प्रभारूणाड़्घ्रि-कोमले । वराभय-स्फुरत-करे प्रभूत-सम्पदालये कदा करिष्यसीहे

पढ़ना जारी रखें

श्री गंगा स्तोत्रम

देवि सुरेश्वरि भगति गंगे त्रिभुवनतारिणि तरलतरंगे । शंकरमौलिविहारिणि विमले मम मतिरास्तां तव पदकमले ।।1।। भागीरथि सुखदायिनि मातस्तव जलमहिमा निगमे ख्यात:

पढ़ना जारी रखें