लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय

on

laxmi-ji

लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय

वर्तमान समय में धन के बिना कुछ संभव नहीं है. अगर धन नहीं है तो जीवन में आगे बढ़ने के सारे रास्ते अवरुद्ध(Blocked) हो जाते हैं. कहीं भी जाओ अथवा कुछ भी लो तो धन की आवश्यकता पड़ती ही है. बिना धन के व्यक्ति को आर्थिक कठिनाईयों(Financial problems) का सामना करना पड़ जाता है और इसी आर्थिक संकट के कारण बहुत से व्यक्ति मानसिक तनाव से घिर जाते हैं. इसी आर्थिक संकट को दूर करने के लिए कुछ उपाय बताए जा रहे हैं जिनमें से कोई भी एक उपाय अपनाने से धन की वृद्धि होती है. यदि किसी का धन फंसा हुआ है और मिल नहीं पा रहा तब इन्हीं में से कोई एक उपाय करने पर रुका धन मिल जाएगा.

  • सुबह-सवेरे उठकर भगवती लक्ष्मी को लाल पुष्प अर्पित करें और दूध से बनी मिठाई का भोग लगाएँ इससे धन लाभ होगा.
  • पीपल के एक पत्ते पर “राम” लिखकर और उस पत्ते पर ही कुछ मीठा अथवा मिठाई रखकर किसी हनुमान मंदिर में चढ़ा दें, ऎसा करने से धन लाभ अवश्य होगा.
  • किसी भी शनिवार के दिन पीपल का एक साफ सुथरा पत्ता ले आएँ, ध्यान रहे वह टूटा-फूटा ना हों, पत्ते को गंगाजल से धो लें. हल्दी तथा दही का मिश्रण तैयार करें और इस मिश्रण से अपने दाएँ हाथ की अनामिका अंगुली से पीपल के पत्ते पर वर्ग के अंदर “ह्रीं” लिख दें. इसके बाद धूप-दीप दिखाकर यह पत्ता मोड़कर अपने पर्स अथवा बटुए में रख लें.
  • हर शनिवार को पुराने पत्ते को बदलकर नया पत्ता रखें और ऊपर लिखी विधि के अनुसार ही पत्ता रखें. आपका पर्स कभी धन से खाली नहीं रहेगा और पुराने पत्ते को घर से बाहर किसी पवित्र स्थान पर रख दें.
  • यदि आपके लाभ के स्त्रोत बंद हो गए हैं तब शुक्रवार के दिन से नित्य गोधूलि बेला में श्रीमहालक्ष्मी के समक्ष अथवा तुलसी के पौधे के पास गाय के घी से दीया जलाएँ.
  • शुक्ल पक्ष के पहले शुक्रवार से आरंभ कर लगातार तीन शुक्रवार तक सायंकाल में लक्ष्मी नारायण मंदिर में जाकर नौ वर्ष से छोटी ग्यारह कन्याओं को खीर व मिश्री का भोजन कराएँ. उपहार के तौर पर उन्हें लाल वस्त्र दान में दें, इससे धन लाभ होगा.
  • घर में झाड़ू को किसी ऎसे स्थान पर रखें जहाँ से वह किसी को भी दिखाई ना दें. ऎसा करने से भी धन लाभ होगा.
  • यदि कोई व्यक्ति अकस्मात धन की प्राप्ति चाहता है तो सोमवार के दिन महादेव(शंकर जी) के मंदिर जाएँ और दूध में शुद्ध शहद मिलाकर शिवलिंग पर चढ़ा दे.
  • प्रत्येक अमावस्या को पूरे घर की सफाई कर के घर के मंदिर में धूप-दीप दिखाने से धनागमन होता है.
  • यदि घर में किसी वाद-विवाद को लेकर अथवा दुर्घटना आदि के कारण धन का अपव्यय हो रहा है तो चमकीले लाल वस्त्र का व लाल मसूर का उपयोग बंद कर दें.
  • अगर घर में धन का संचय नही हो पा रहा है तो तिजोरी में लाल वस्त्र बिछा लें और उस पर स्फटिक का श्री यंत्र स्थापित कर लें.
  • 11 कौड़ियों को शुद्ध केसर से रंगकर पीले कपड़े में बाँधकर धन स्थान पर रखने से धन का आगमन होता है.
  • किसी भी सोमवार के दिन शिवलिंग को कच्चे दूध, दही, शुद्ध घी, शुद्ध शहद, देसी शक्कर व गंगाजल से धोकर पवित्र करें, इसके बाद नागकेसर के पाँच फूल, पाँच बिल्व पत्रों के साथ पारद शिवलिंग पर चढ़ा दें. यह काम आने वाली पूर्णिमा तक प्रत्येक सोमवार को करना है. जब अंतिम सोमवार को नागकेसर व बिल्वपत्रों को चढ़ाएँ तब उनमें से एक फूल व एक बिल्वपत्र घर ले जाएँ. इन्हें घर, दुकान, फैक्ट्री अथवा अपनी तिजोरी में रखना हैं. इनके रखने के प्रभाव से धन-संपत्ति अर्जित करने में काफी मदद मिलती है.
  • दुकान अथवा फैक्ट्री अथवा आफिस में तिजोरी के पास लक्ष्मी-गणेश की तस्वीर लगाएँ. दुकान खुलते ही मनोभावना से लक्ष्मी जी की पूजा कर के बैठें. अवश्य ही धन का लाभ होगा.
  • स्फटिक से बने श्री यंत्र को पूजा स्थान में रखकर उसकी पूजा करें. पूजा के बाद इसे लाल वस्त्र में लपेटकर धन स्थान पर स्थापित कर दें, ऎसा करने से धन में वृद्धि होती रहेगी.
  • स्फटिक से बने श्रीयंत्र को प्राण प्रतिष्ठा के बाद घर के ईशान कोण में स्थापित कर के उसकी पूजा करने पर विविध प्रकार के ऎश्वर्यों के साथ लक्ष्मी जी की प्राप्ति होती है.
  • एकाक्षी नारियल को चमकीले लाल वस्त्र में लपेटकर धन स्थान में रखने पर धन की निरंतर वृद्धि होती है.
  • जिस घर में एकाक्षी नारियल होता है वहाँ लक्ष्मी स्वत: ही वास करती है और घर में कभी धन की कमी नहीं होती है.
  • धन प्राप्ति के लिए किसी देवी स्वरुप की उपासना करें और प्रतिदिन पूजा के समय उस देवी की प्रतिमा पर लौंग अर्पित करें.
  • जिस घर में श्रीसूक्त का पाठ प्रतिदिन होता है वहाँ श्रीलक्ष्मी अवश्य ही निवास करती है. घर में धन की कमी नहीं होती है.
  • गुरुवार के दिन पुष्य नक्षत्र में स्नानादि से निवृत होकर एक हल्दी की गाँठ को पीले रुमाल में रखें. उसके बाद हल्दी मिले चावल, नारियल का साबुत गोला व एक सुपारी भी रखें, फिर धूप-दीप दिखाकर उसमें हल्दी से रंगा एक सिक्का भी रख दें. प्रतिदिन इसे नियमित रुप से धूप-दीप दिखाते रहें. इस उपाय को करने से भी घर में धन की वृद्धि होती रहती है.
  • रविवार के दिन पुष्य नक्षत्र हो तो एक कुशमूल लाकर उसे गंगाजल में स्नान कराकर देव प्रतिमा की भाँति उसकी पूजा करें. फिर लाल कपड़े में लपेटकर तिजोरी में रख दें. इसकेर बाद नियमित रुप से प्रतिदिन धूप-दीप दिखाएँ और ऎसा करने से तिजोरी का धन दिनोदिन बढ़ता जाएगा.
  • घर के मुख्य द्वार के बीचोबीच भीतर की ओर गणेश जी की प्रतिमा अथवा उनका चित्र लगाएँ ताकि घर में धन का आगमन हो सके.
  • हर शनिवार को घर के भीतर लगे जालों को साफ करें, रद्दी व पुरानी वस्तुओं को बाहर निकालें, टूटी हुई वस्तुओं को भी बाहर निकालने से घर में लक्ष्मी जी का वास होता है.
  • प्रात:काल उठकर अपने दोनों हाथों की हथेलियों को कुछ पल देखकर उन्हें चूमना चाहिए. चूमने के बाद दोनों हाथों को चेहरे पर 3/4 बार फिराना चाहिए, इससे घर में धन की वृद्धि होती है.
  • शुक्रवार के दिन कमल का फूल लाकर लाल वस्त्र में लपेटकर अपनी तिजोरी अथवा रुपये रखने के स्थान पर रखना चाहिए इससे धन सुगमता से आता है.
  • काले चावलों को चमकीले लाल वस्त्र में लपेटकर तिजोरी अथवा धन स्थान पर रखने से आर्थिक स्थिरता बनी रहती है.
  • प्रत्येक बृहस्पतिवार को तुलसी के पौधे में दूध अर्पित करने पर व्यक्ति अवश्य ही आर्थिक रुप से सक्षम हो जाएगा.
  • किसी भी माह के पहले शुक्रवार को कमल का लाल फूल ले आएँ उस पर रोली से तिलक लगाकर लाल कपड़े के ऊपर रखकर धूप-अगरबत्ती दिखाएं फिर उसी कपड़े में लपेटकर धन स्थान पर रख दें. ऎसा करने से धन लाभ होगा.
  • कच्ची घानी के तेल के दीपक में फूलदार लौंग डालकर हनुमान जी की आरती करें, इससे अनिष्ट दूर होगा तथा धन में वृद्धि होगी.
  • देवी लक्ष्मी के चित्र के समक्ष नौ बत्तियों से शुद्ध घी का दीपक जलाएँ. ऎसा करने पर उसी दिन से धन लाभ होना आरंभ हो जाएगा.
  • श्रीमहालक्ष्मी का ध्यान कर के माथे पर शुद्ध केसर का तिलक लगाएँ, धन के समाचार आने शुरु जाएंगें.
  • घर के बाहर शुद्ध केसर से स्वस्तिक बनाएँ और उस पर पीले फूल व अक्षत(चावल) चढ़ाएँ. घर में लक्ष्मी का आगमन आरंभ होगा.
  • दो पीले फूल श्रीमहाल़मी को अर्पित करें, धन लाभ होगा.
  • श्रीगणेश जी को दूर्वा तथा मोतीचूर के लड्डू का भोग लगाकर श्रीलक्ष्मी के चित्र के समक्ष शुद्ध घी का दीपक जलाएँ, धन की कमी नहीं होगी.
Advertisements