एकादशी व्रत 2020

द्वारा प्रकाशित किया गया

एकादशी

धर्मसिंधु के अनुसार एकादशी दो प्रकार की होती हैं, पहली विद्धा और दूसरी शुद्धा. यदि एकादशी तिथि दशमी तिथि से युक्त हो तो वह विद्धा एकादशी कही जाती है. यदि सूर्योदय के समय एकादशी तिथि द्वादशी तिथि से युक्त होती है तब वह शुद्धा एकादशी कही जाती है. सामान्य जन साधारण को शुद्धा एकादशी का व्रत रखना ही पुण्यदायक माना गया है.  

एकादशी व्रत तिथियाँ (Dates) 2020

तिथियाँ (Dates) दिन (Days)  एकादशी (Ekadashi)
6 जनवरी  सोमवार  पौष शुक्ल पक्ष की पुत्रदा एकादशी 
20 जनवरी  सोमवार  माघ कृष्ण पक्ष की षट्तिला एकादशी 
5 फरवरी  बुधवार  माघ शुक्ल पक्ष की जया एकादशी 
19 फरवरी  बुधवार  फाल्गुन शुक्ल पक्ष की विजया एकादशी 
6 मार्च  शुक्रवार फाल्गुन शुक्ल पक्ष की आमलकी एकादशी 
20 मार्च  शुक्रवार  चैत्र कृष्ण पक्ष की पापमोचनी एकादशी – वैष्णव (स्मार्त्तों का एक दिन पहले व्रत)
4 अप्रैल  शनिवार  चैत्र शुक्ल पक्ष की कामदा एकादशी 
18 अप्रैल  शनिवार  वैशाख कृष्ण पक्ष की वरूथिनी एकादशी 
4 मई  सोमवार  वैशाख शुक्ल पक्ष की मोहिनी एकादशी – वैष्णव (स्मार्त्तो का व्रत एक दिन पहले)
18 मई  सोमवार  ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष की अपरा एकादशी 
2 जून  मंगलवार  ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की निर्जला एकादशी 
17 जून  बुधवार  आषाढ़ कृष्ण पक्ष की योगिनी एकादशी 
1 जुलाई  बुधवार  आषाढ़ शुक्ल पक्ष की हरिशयनी एकादशी 
16 जुलाई  बृहस्पतिवार  श्रावण कृष्ण पक्ष की कामिका एकादशी 
30 जुलाई  बृहस्पतिवार  श्रावण शुक्ल पक्ष की पवित्रा एकादशी 
15 अगस्त  शनिवार  भाद्रपद कृष्ण पक्ष की अजा एकादशी 
29 अगस्त  शनिवार  भाद्रपद शुक्ल पक्ष की पद्मा एकादशी 
13 सितंबर  रविवार  शुद्ध आश्विन कृष्ण पक्ष की इन्दिरा एकादशी 
27 सितंबर  रविवार  अधिक मास – आश्विन शुक्ल पक्ष – पुरुषोत्तमा एकादशी 
13 अक्तूबर  मंगलवार  अधिक मास – आश्विन कृष्ण पक्ष – पुरुषत्ता एकादशी 
27 अक्तूबर  मंगलवार  शुद्ध आश्विन शुक्ल पक्ष की पापांकुशा एकादशी 
11 नवंबर  बुधवार  कार्तिक कृष्ण पक्ष की रमा एकादशी 
26 नवंबर  बृहस्पतिवार  कार्तिक शुक्ल पक्ष की हरिप्रबोधिनी एकादशी – वैष्णव (स्मार्त्तो क व्रत एक दिन पहले)
11 दिसंबर  शुक्रवार  मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष की उत्पन्ना एकादशी – वैष्णव (स्मार्त्तो का व्रत एक दिन पहले)
25 दिसंबर  शुक्रवार  मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष की मोक्षदा एकादशी

2 comments

  1. जय श्री राधे कृष्णा प्यारे मित्रो
    सभी वैष्णव जन से निवेदन है कि ज्यादा से ज्यादा लोगो को एकादशी व्रत व गौसेवा करने के लिए प्रेरित कीजिये
    जय गौमाता जय गोपाल

टिप्पणियाँ बंद कर दी गयी है.