कार्तिक माह माहात्म्य – आठवाँ अध्याय

जिसकी दया से सरस्वती, भाव रही उपजाय। कार्तिक माहात्म का ‘कमल’ लिखे आठवाँ अध्याय।। नारदजी बोले – अब मैं कार्तिक

Continue reading

कार्तिक माह माहात्म्य – चौथा अध्याय

माता शारदा की कृपा, लिखूं भाव अनमोल। कार्तिक माहात्म का कहूं, चौथा अध्याय खोल।। नारदजी ने कहा – ऎसा कहकर

Continue reading

error: Content is protected !!