शिवपंचाक्षर स्तोत्रम

नागेन्द्रहाराय त्रिलोचनाय, भस्मांगरागाय महेश्वराय । नित्याय शुद्धाय दिगम्बराय, तस्मै ‘न’काराय नम: शिवाय ।।1।। मन्दाकिनी-सलिल-चन्दन-चर्चिताय, नन्दीश्वर-प्रमथनाथ-महेश्वराय । मन्दारपुष्प – बहुपुष्प – सुपूजिताय, तस्मै ‘म’काराय नम: शिवाय ।।2।। शिवाय गौरीवदनाब्जवृन्द, सूर्याय दक्षाध्वर – नाशकाय । श्रीनीलकण्ठाय वृषध्वजाय, तस्मै ‘शि’काराय नम: शिवाय ।।3।। वसिष्ठ – कुम्भोद्भव – गौतमार्य, मुनीन्द्र – देवार्चित – शेखराय । चन्द्रार्क – वैश्वानर –…

अष्टलक्ष्मी प्रणाम मंत्र

ऊँ आद्य लक्ष्म्यै नम : ऊँ विद्यालक्ष्म्यै नम : ऊँ सौभाग्य लक्ष्म्यै नम : ऊँ अमृतलक्ष्म्यै नम : ऊँ काम लक्ष्म्यै नम : ऊँ सत्य लक्ष्म्यै नम : ऊँ भोग लक्ष्म्यै नम : ऊँ योग लक्ष्म्यै नम : जो व्यक्ति धनाभाव से गुजर रहे हैं या जिनके पास जीवन निर्वाह के लिए उचित मात्रा में…